Aug. 13, 2015

1

" दोस्ती तो सिर्फ इतफाक है, यह तो दिलों की मुलाकात है, दोस्ती नही देखती यह दिन है कि रात है, इसमें तो सिर्फ वफादारी और जज्बात है .."

Gaurav